fbpx
Skip to main content

Patrika

2019/1-2

2019 VDDS 1 2 To view the issue, please click the image

pdf01
Title Page

pdf02
अनुक्रमणिका
Table of Contents

pdf03-04
Best Wishes - Swami Gyaneshwar

pdf05-06
सम्पादकीयEditorial

pdf07-10
उदार दृष्टि : हमारे धर्म की संजीवनी - महामहोपाध्याय देवर्षि कलानाथ शास्त्री
Udar Drishti: Hamare Dharm Ki Sanjivani - Mahamahopadhyay Devarshi Kalanath Shastri

pdf11-14
वास्तवे हिन्दुः कः- डॉ . नारायणशास्त्री काङ्करः
Vastave Hindu Kah - Dr. Narayan Shastri Kankar

pdf15
श्रीविद्यायोगसाधना - प्रो. कमल चन्द्र योगी
Srividyayogasadhana - Prof. Kamal Chandra Yogi

pdf16-18
हिन्दू धर्म और स्वास्थ्य - डॉ शिवदत्त शर्मा
Hindu Dharm Or Swasthya -Dr. Shivdutt Sharma

pdf19
देववाणी छन्द: मन्दाक्रान्ता - आचार्य महावीरप्रसाद शर्मा
Devavani Chhanda: Mandakranta - Acharya Mahavirprasad Sharma

pdf20
भारत के नौजवानों - कुमार संदीप
Bharat Ke Noujawan - Kumar Sandeep

pdf21-27
Bhagavadgita : An extension of Vedic thought and philosophy - Dr. Renuka Rathore

pdf28-31
रक्षा सूत्र - वैद्य गोपीनाथ पारीक 'गोपेश'
Raksha Sutra - Vaidya Gopinath Pareek 'Gopesh'

pdf32-34
निपातानां द्योतकत्वं वाचकत्वं वा - प्रो. श्रीधर मिश्रः
Nipatanam Dyotakatvam Vachkatvam Va - Prof. Sridhar Mishra

pdf35-38
कृष्णस्तु भगवान् स्वयम् - डॉ. शालिनी सक्सेना
Krishnastu Bhagwan Swayam - Dr. Shalini Saxena

pdf39-42
प्रयाग एवं कुम्भ (रामचरित मानस के परिपेक्ष्य में) - पं. रमाशङ्कर गौड़
Prayag and Kumbha (Ramcharit Manas ke Paripekshya me) - Pt. Ramashkar Gaur

 pdf43-44
वेदे संवत्सरविज्ञानम् - डॉ. डी. दयानाथ:
Vede Samvatsara Vigyanam - Dr. D. Dayanath

pdf45-46
मेरा वतन - नवीन जोशी
Mera Vatan - Naveen Joshi

pdf47
हमारी अनुपम वैदिक संस्कृति - अधिवक्ता हरिशंकर पारीक
Hamari Anupam Vaidik Sanskriti - Adhivakta Harishankar Pareek

pdf48-50
भारतीय संस्कृति का आधार - अधिवक्ता नवीन कुमार जग्गी
Bhartiya Sanskriti Ka Aadhar - Adhivakta Naveen Kumar Jaggi

pdf51
श्रीकृष्ण अवतरण - राजेश चेतन
Shrikrishan Avataran - Rajesh Chetan

pdf52-55
नाभस योग - डॉ.सीमा शर्मा
Nabhas Yoga - Dr. Seema Sharma

pdf56-59
राजस्थानीयेषु आधुनिकसंस्कृतमहाकाव्येषु रामदेव चरितम् महाकाव्यम् - डॉ. योगेश कुमार शर्मा
Rajasthaniyeshu Aadhunik Sanskritamahakaavyeshu Ramdev Charitam Mahakavyam - Dr. Yogesh Kumar Sharma

pdf60-61
हिन्दू धर्म में योग की अवधारणा - सुश्री प्रिया सैनी
Hindu Dharm Me Yoga Ki Avdharana - Ms. Priya Saini

pdf62-64
कर्मन की गति न्यारी - श्रीमती अंजना शर्मा
Karman Ki Gati Nyari - Anjana Sharma

pdf65
Back Page


Editorial Board

Shri Kailash Chaturvedi
Ugam Path, near Hotel Teej, Jaipur
Tel: 0141 220 4069
email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

Swami Gyaneshwar Puri, MA
Vishwaguru Deep Ashram, Kirti Nagar, Jaipur 302019
email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

Sohan Lal Garg 
102, Sri Deep Nagar, New Sanganer Road, Jaipur 302019
Mob:9460655695
email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

Mangilal Garg 
102, Sri Deep Nagar, New Sanganer Road, Jaipur 302019
Mob:9460655695
email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

Dr. Surendra Sharma, PN
23, Jain Enclave, Golyawas, Mansarovar, Jaipur 302020
Mob: 73576 44067
email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

Dr Ramdev Sahu, PN
58, Sector 5, Malviya Nagar, Jaipur 
Mob: 9529194030
email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

Tibor Kokeny, MA
University of Debrecen, Hungary
e-mail: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

Mrs Anja Vukadin
Universitaet Wien
Schanzstrasse 47/20, 1140 Wien
email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

Dr Raghuveer Prashad Sharma
13 Bhuvan-bhuvan, Shiv Shankar Colony, Pillar 13, Mansarovar Metro Station, Jaipur
Mob: 8104102109
email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.